तीन आंखों के साथ जन्मी बछिया, लोग कर रहे पूजा

    Date:

    राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में तीन आंख और चार नासिका छिद्र के साथ जन्मी बछिया को देखने लोगों का तांता लगा हुआ है। ग्रामीण और आसपास लोग बछिया को “भगवान का अवतार” मान पूजा कर रहे हैं।

    राजनांदगांव जिले के छुईखदान थाना क्षेत्र के अंतर्गत लोधी गांव निवासी किसान हेमंत चंदेल (44) ने सोमवार को बताया कि इस महीने की 13 तारीख को उसके घर एक गाय ने बछिया को जन्म दिया है। जन्म के बाद से ही बछिया ग्रामीण और आसपास के कस्बों के निवासियों के लिए कौतूहल का केंद्र बन गई है।

    उसने बताया, “इस बछिया के ​माथे पर एक अतिरिक्त आंख है और नथुने में दो अतिरिक्त नासिका छिद्र है। पूंछ जटा की तरह है तथा ​जीभ सामान्य से लंबी है।” चंदेल ने बताया, “तीन आंख और चार नासिका छिद्र समेत अन्य भिन्नताओं को लेकर जन्मी इस ​बछिया को लोग भगवान का अवतार मान पूजा कर रहे हैं।”​चंदेल ने बताया कि बछिया के असामान्य होने के बाद उन्होंने स्थानीय पशु चिकित्सक से उसकी जांच कराई थी। चिकित्सक ने बछिया के स्वास्थ्य को संतोषजनक बताया है। हालांकि लंबी जीभ होने के कारण उसे मां का दूध पीने में परेशानी हो रही है।

    उन्होंने बताया कि परिवार के लोग बछिया को दूध पिलाने में मदद कर रहे हैं।

    - Advertisement -

    किसान चंदेल ने बताया कि एचएफ जर्सी नस्ल की गाय पिछले कुछ वर्षों से इनके घर में है और पहले भी उसने तीन बछड़ों को जन्म दिया है, जो सामान्य थे। लेकिन इस बार जन्मी बछिया ने सभी को चौंका दिया है। उसने कहा, “हम मानते हैं कि ईश्वर ने हमारे यहां जन्म ​लिया है।” उन्होंने बताया कि जब आसपास के लोगों को बछिया के जन्म की जानकारी मिली तब बछिया की एक झलक पाने के लिए वह घर पहुंच गए और उसे भगवान का अवतार मानते हुए पूजा शुरू कर दी। लोग बछिया पर फूल और नारियल चढ़ा रहा हैं।

    अलौकिक घटना से इंकार

    इधर पशु चिकित्सकों ने इसे भ्रूण की असामान्य वृद्धि बताते हुए किसी अलौकिक घटना से इंकार किया है।

    क्षेत्र के पशु चिकित्सक कमलेश चौधरी ने बताया, “इस तरह कि विकृतियां भ्रूण के असामान्य विकास के कारण होती है। आमतौर पर जानवर के ऐसे बच्चे शारीरिक रूप से कमजोर होते हैं। इसे चमत्कार नहीं माना जाना चाहिए।” वहीं छत्तीसगढ़ में अंधविश्वास के खिलाफ वर्षों से आंदोलन चलाने वाले क्षेत्र के प्रसिद्ध चिकित्सक तथा अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के प्रमुख डॉक्टर दिनेश मिश्रा ने कहा है कि ऐसे मामले जन्मजात विसंगतियों के कारण होते हैं। उन्होंने कहा, “लोगों को इसे आस्था या अंधविश्वास से नहीं जोड़ना चाहिए। कई घटनाओं में यह देखा गया है कि विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के लोग जागरूकता की कमी के कारण ऐसे जानवरों की पूजा करते हैं।” मिश्रा ने कहा है कि जानवरों में इस तरह की विकृति के बारे में लोगों को वैज्ञानिक रूप से समझाने की जरूरत है, जिससे वह अपने पशुओं की ठीक से देखभाल कर सकें।

    Subscribe to our Newsletter

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

    कोई जवाब दें

    कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
    कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

    पोस्ट साझा करें:

    एक नजर इन पर भी...

    राजनीतिक मतभेद इतना कैसा कि प्रधानमंत्री मोदी की जान से खेल जाए कांग्रेस :...

    भोपाल/वार्ता। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस शासित पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष...

    विक्रम वेधा में तीन लुक में नजर आएंगे ऋतिक रौशन

    मुंबई। बॉलीवुड के माचो हीरो ऋतिक रौशन अपनी आने वाली फिल्म ’विक्रम वेधा’ में तीन अलग-अलग लुक में नजर आयेंगे। सुपरहिट तमिल फिल्म विक्रम...
    Jio AirFiber को धूल चटा देगा Xtreme Airtel AirFiber, मिलेगा हाई स्पीड इंटरनेट

    Jio AirFiber को धूल चटा देगा Xtreme Airtel AirFiber, मिलेगा हाई स्पीड इंटरनेट

    Jio AirFiber की अनाउंसमेंट के बाद Airtel ने भी अपने वायरलेस ब्रॉडबैंड Xtreme Airtel AirFiber की घोषणा कर दी है। भारतीय लोगों में जिनके...

    तूफानों से भरा है बृहस्पति, क्या कभी थमेगा ग्रेट रेड स्पॉट

    मेलबर्न (ऑस्ट्रेलिया)। बृहस्पति हमारे सौर मंडल में सबसे बड़ा ग्रह है, और इसका मौसम बहुत अनोखा है। हमारे पास बृहस्पति की सुंदर छवियां हैं...

    लहरों की महत्ता क्या है? समुद्र तटों में बदलाव से सर्फिंग के लाभ पर...

    कोविड-19 से पहले वैश्विक स्तर पर सर्फिंग पर्यटन पर अनुमानित रूप से हर वर्ष 91 अरब ऑस्ट्रेलियाई डॉलर खर्च किए जाते थे और वैश्विक...
    सीरवी प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता के खिलाड़ियों की हुई नीलामी

    सीरवी प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए खिलाड़ियों की हुई नीलामी

    बेंगलूरु| बलेपेट सीरवी यूथ ऐसोसिएशन बलेपेट के तत्वावधान में सीरवी प्रीमियर लीग (एसपीएल) सीजन 3 का खिलाड़ियों की नीलामी कार्यक्रम का आयोजन एक होटल...
    तमिलनाडु सैणचा परिवार का स्नेह मिलन का हुआ आयोजन

    तमिलनाडु सैणचा परिवार का स्नेह मिलन का हुआ आयोजन

    चेन्नई/सीरवी न्यूज़। सेंणचा परिवार तमिलनाडु का होली स्नेह मिलन का आयोजन रविवार को सीरवी समाज पोरूर बडेर के परिसर में किया गया। सभा का...
    बोगादी में शीतला माता भजन संध्या का हुआ आयोजन

    बोगादी में शीतला माता भजन संध्या का हुआ आयोजन

    मैसूरु। यहॉं की बोगादी ग्राम के सर्व व्यापारी संघ की ओर से रविवार को एक शाम शीतला माता के नाम भजन संध्या का आयोजन...

    पुलिस अपना काम बिना किसी दबाव के निष्पक्षता और सकारात्मक सोच के साथ करे...

    जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस का प्रयास हो कि किसी भी अपराध में कम से कम समय में गहनता से तफ्तीश...

    ‘नशा मुक्ति के लिए, जहां चाह, वहां राह’, वैलूर समाज एक सटीक उदाहरण

    वैलूर। तमिलनाडु प्रान्त के प्रसिद्ध वैलूर शहर में सीरवी समाज में मादक पदार्थों सहित किसी भी प्रकार की नशे की मनुहार पर काफी सालों...

    इस तरह की और खबरें
    इस तरह की और खबरें

    बकरी ने दिया इंसान जैसी शक्ल के बच्चे को जन्म

    एक चौंका देने वाली घटना असम के कछार जिले...

    कोविड वैक्सीन लेने से बचने के लिए नारियल के पेड़ पर चढ़ा आदमी

    पुड्डुचेरी/दक्षिण भारत। पुड्डुचेरी के पास कोनेरीकुप्पम गांव में उस...

    एलन मस्क : बड़े लोग बड़ी बातें

    नई दिल्ली। कुछ लोग हमेशा खबरों में रहते हैं,...