मोदी सुरक्षा चूक मामले की जांच शुरू,पंजाब को सभी रिकॉर्ड जमा कराने के आदेश

    Date:

    नई दिल्ली। गृह मंत्रालय की जांच टीम ने पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के समय उनके काफिले की सुरक्षा में हुई चूक की जांच शुरू कर दी है और बठिंडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी की गयी है।

    उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई की और राज्य सरकार को सभी रिकॉर्ड पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार के कार्यालय में जमा कराने के आदेश दिये। न्यायालय में अब इस मामले की सुनवाई सोमवार को करेगा। मोदी की सुरक्षा में हुई चूक पर जांच के लिए गठित हुई केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जांच टीम पूर्वाह्न करीब सवा 10 बजे मिनट पर फिरोजपुर जिले में उस फ्लाईओवर पर पहुंची जहां श्री मोदी के काफिले को रोका गया था। टीम वहां 40 मिनट तक रही और विभिन्न जानकारियां जुटाई।

    इसके साथ ही पंजाब पुलिस के कई शीर्ष अधिकारियों से इस मामले में पूछताछ की गई।

    केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम सुबह चार बजे सीमा सुरक्षा बल मुख्यालय पहुंची, जिसके उपरांत टीम सुबह करीब 10 बजकर 20 मिनट पर फिरोजपुर के गांव प्यारेआना के उस फ्लाईओवर पर पहुंची जहां बुधवार को आंदोलनकारी किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को रोका था।

    - Advertisement -

    संबंधित पोस्ट : पंजाब में मोदी की सुरक्षा में गंभीर चूक

    इस टीम की अध्यक्षता केन्द्रीय मंत्रिमंडल में सचिव (सुरक्षा) सुधीर कुमार सक्सेना और इसके सदस्य खुफिया ब्यूरो के संयुक्त निदेशक बलबीर सिंह और स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप के महानिरीक्षक एस सुरेश हैं। इन्हें यथाशीघ्र रिपोर्ट देने को कहा गया है।

    तकरीबन फ्लाईओवर पर 40 मिनट तक इस जांच में टीम ने वायरल वीडियो, फोटोज और नक्शे की मदद घटनास्थल की बारीकी से जांच करते हुए यह पता लगाने की कोशिश की किसान किस मार्ग से फ्लाईओवर पर चढ़े थे और कितनी दूर तक यह जाम लगा रहा था। साथ ही इस क्रम में टीम ने घटना के दौरान ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों से पूछताछ भी की।

    फ्लाईओवर पर जांच के बाद टीम ने बीएसएफ मुख्यालय में शीर्ष अधिकारियों से पूछताछ की जिसमें फिरोजपुर, मोगा, बठिंडा और फरीदकोट के अधिकारियों के शामिल होने की जानकारी मिली है। टीम के सदस्यों ने एडीजीपी साइबर क्राइम नागेश्वर राव से करीब 50 मिनट तक पूछताछ की।

    - Advertisement -

    प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के कारण का पता करने के लिए जांच टीम ने 14 पुलिस अधिकारियों को पूछताछ के लिए बीएसएफ मुख्यालय तलब किया था।

    उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल को श्री मोदी की पिछले दिनों पंजाब दौरे से संबंधित सभी रिकॉर्ड सुरक्षित और संरक्षित करने का शुक्रवार को निर्देश दिया।

    मुख्य न्यायाधीश एन. वी. रमना और न्यायमूर्ति सूर्य कांत और न्यायमूर्ति हेमा कोहली की पीठ ने रिकॉर्ड सुरक्षित रखने के निर्देश के साथ ही मोदी की पिछले दिनों पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में कथित चूक मामले में केंद्र और पंजाब द्वारा गठित दो अलग-अलग कमेटियों को याचिका पर अगली सुनवाई सोमवार तक के लिए जांच नहीं करने का निर्देश दिया।

    शीर्ष अदालत ने चंडीगढ़ के महानिदेशक और एनआईए और एसपीजी सहित विभिन्न केंद्रीय जांच एजेंसियों के अन्य शीर्ष अधिकारियों से कहा है वे प्रधानमंत्री की यात्रा से संबंधित रिकॉर्ड उपलब्ध कराने में उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल की आवश्यक सहयोग करें।

    - Advertisement -

    मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कथित चूक के खिलाफ एनजीओ ‘लॉयर्स वॉयस’ द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई करते ये निर्देश दिया। यह याचिका गुरुवार को दायर की गई थी और इस मामले में विशेष उल्लेख के तहत शीघ्र सुनवाई की गुहार लगाई गई थी।

    उच्चतम न्यायालय पंजाब में मोदी की सुरक्षा चूक पर सवाल खड़े करने वाली याचिका पर शीघ्र सुनवाई की गुहार वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने लगाई थी। उन्होंने पंजाब के भटिंडा में गत बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी के दौरान सुरक्षा चूक से जुड़े मामले को अत्यावश्यक बताते शीघ्र सुनवाई की गुहार लगाई थी। इसके बाद मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मामले की सुनवाई आज करने के लिए सहमत हुई थी।

    याचिका में भविष्य में प्रधानमंत्री की ‘सुरक्षा चूक ‘ की पुनरावृत्ति से बचने के लिए पूरे प्रकरण की ‘कुशल और पेशेवर’ जांच की मांग की गई है। याचिका में शीर्ष अदालत से भटिंडा के जिला न्यायाधीश को सुरक्षा उल्लंघन से संबंधित पूरे रिकॉर्ड को अपने कब्जे में लेने का निर्देश देने की गुहार लगाई थी।

    गौरतलब है कि फिरोजपुर में प्रदर्शनकारियों द्वारा नाकेबंदी किए जाने के कारण बुधवार को मोदी का काफिला फ्लाईओवर पर फंसा गया था, जिसके कारण मोदी को अपनी रैली और पंजाब में होने वाले अन्य कार्यक्रमों को रद्द करना पड़ा था।

    पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले के सुरक्षा व्यवस्था में ढील की घटना के दो दिन बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बठिंडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

    सूत्रों के अनुसार वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को शनिवार तक इस नोटिस का जवाब देने को कहा गया है। मंत्रालय में उपसचिव अर्चना वर्मा के हस्ताक्षर से इस पत्र में कहा गया है कि चूंकि प्रधानमंंत्री की बुधवार की पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में गंभीर चूक हुई थी, इसलिए बठिंडा के एसएसपी को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया है कि उनके खिलाफ अखिल भारतीय सेवा (अनुशासन एवं अपील), नियमावली 1969 के अंतर्गत भूल-चूक को लेकर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई क्यों न की जाए।

    गौरतलब हेै कि गुरुवार को भारतीय किसान यूनियन (क्रांतिकारी) ने कहा था कि प्रधानमंत्री के काफिले के रास्ते की जानकारी फिरोजपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने दी थी। आंदोलनकारी किसानों से कहा गया था कि बुधवार को प्रधानमंत्री का काफिला उस जगह से निकलने वाला है, इसलिए उस रास्ते को खाली कर दें।

    प्रधानमंत्री का काफिला रास्ते में एक फ्लाईओवर पर प्रदर्शनकारियों द्वारा रास्ता रोके जाने के कारण 20 मिनट तक फंसा रहा।

    Subscribe to our Newsletter

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

    कोई जवाब दें

    कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
    कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

    पोस्ट साझा करें:

    एक नजर इन पर भी...

    ट्रक से पुलिस ने 45 गोवंश कराए मुक्त

    प्रतापगढ़। राजस्थान में प्रतापगढ जिले के धोलापानी थाना क्षेत्र में पुलिस ने नाकाबंदी तोड़कर आए एक ट्रक से 45 गोवंश को मुक्त कराया है।...

    नेताजी की प्रतिमा आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगी : अमित शाह

    नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि इंडिया गेट पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा आने वाली पीढ़ियों को...

    महान व्यक्तित्वों के योगदान को मिटाने का प्रयास हुआ : मोदी

    नयी दिल्ली। कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि आजादी के बाद...

    मंदिर निर्माण करना चार धाम की तीर्थयात्रा के पुण्य समान: दीवान माधवसिंह

    बेंगलूरु। सीरवी समाज सरजापुर रोड ट्रस्ट के आई माता मंदिर का भूमि पूजन शनिवार को किया गया। इस दौरान हर्षोल्लास का माहौल रहा। भक्तगण...

    बकरी ने दिया इंसान जैसी शक्ल के बच्चे को जन्म

    एक चौंका देने वाली घटना असम के कछार जिले की धौलाई विधानसभा इलाके के गंगा नगर गांव में हुई हैं। जहां एक किसान की...

    आ रहा है महिंद्रा Bolero का नया अवतार, देखतें ही हो जाएगें दीवाने!

    नई दिल्ली। भारतीय बाजार में ऐसी कई कारों है, जो काफी पंसद की जाती है। वही इन्हीं में से एक महिंद्रा (Mahindra Bolero) की...

    स्वतंत्रता के बाद नेताजी के प्रति न्यायपूर्ण ढंग से सम्मान व्यक्त नहीं किया गया...

    भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को आरोप लगाया कि स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस नीत सरकारों ने नेताजी सुभाष चंद्र...

    मप्र सरकार नर्मदा नदी के किनारे जैविक खेती करने का अभियान चलाएगी

    भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने गंगा नदी के किनारे रसायन मुक्त खेती शुरु करने के केंद्रीय बजट प्रस्ताव से प्रेरणा लेते हुए प्रदेश की जीवन...

    राहुल ने सत्य कहा कि केन्द्र सरकार का राज्यों से संवाद में विश्वास नहीं...

    जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के आज लोकसभा में दिए भाषण की प्रशंसा करते हुए कहा है कि...

    इस तरह की और खबरें
    इस तरह की और खबरें

    सीरवी समाज अटबड़ा का स्नेह मिलन संपन्न

    बेंगलूरु। सीरवी समाज अटवड़ा का दसवां वार्षिक स्नेह मिलन...

    2022 आईपीएल सीजन 27 मार्च को हो सकता है शुरू

    मुंबई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) आईपीएल के 2022...

    हर हफ्ते पौधों पर आधारित चार खाद्य पदार्थ खाएं, सेहत अच्छी रहेगी

    पोषण और आहार विज्ञान में एक पुरस्कार विजेता प्रोफेसर...

    गोरखपुर शहर: वीर बहादुर सिंह के निधन से खाली हुई जगह की भरपाई कर रहे हैं योगी

    गोरखपुर (उप्र)। उत्‍तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने से पहले...

    रूस ने यूक्रेन के पूर्वी हिस्से पर हमले तेज़ किए

    कीव। यूक्रेन के बंदरगाह शहर मारियुपोल से हजारों लोगों...

    दुश्मन को जवाब देने में करेंगे ब्रह्मोस का इस्तेमाल : राजनाथ

    लखनऊ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विश्व...

    कहां और कैसे आप कोविड संक्रमण की पकड़ में आ सकते हैं

    महामारी को अस्तित्व में आए दो साल हो चुके...