अगर आप कोविड-19 की वजह से घर पर हैं, तो ऐसे करें अपने मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल

    Date:

    म में से कई लोगों के लिए, कोविड की चपेट में आना और उसकी वजह से घर पर अलग-थलग रहना एक एकाकी, डरावना और कष्टदायक अनुभव हो सकता है और पहले से मानसिक बीमारी का सामना कर रहे लोगों के लिए यह और भी मुश्किल हो सकता है।

    यदि आप कोविड के शिकार हैं और घर पर अलग-थलग हैं तो निम्नलिखित रणनीतियों को आपके मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल करने में मदद करने के लिए तैयार किया गया है।

    मूल बातें याद रखें

    अनिश्चितता और जोखिम में रहते हुए, स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की सरल रणनीतियों को याद रखना और उनका अभ्यास करना मुश्किल हो सकता है।

    यदि आप कोविड की वजह से घर पर ही आइसोलेशन में हैं, तो यह महत्वपूर्ण है:

    • बुखार और अन्य लक्षणों जैसे दर्द और गले में खराश को पैरासिटामोल या इबुप्रोफेन से नियंत्रित करें।
    • स्वस्थ आहार लेते रहें
    • तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं, खासकर अगर आपको बुखार है – कम से कम 10 दिनों के लिए व्यायाम बंद कर दें, और अपने लक्षणों की गंभीरता के आधार पर, धीरे-धीरे व्यायाम पर लौटें (यदि व्यायाम पर लौटने के बारे में आपके कोई प्रश्न हैं, तो अपने डाक्टर से संपर्क करें)
    • गहरी साँस लेना, जो फेफड़ों को काम करने में मदद कर सकता है और आइसोलेशन तथा ठीक होने के दौरान आपको शांत रहने में मदद कर सकता है, लेकिन यह आपके डॉक्टर के परामर्श से किया जाना चाहिए
    • बीमारी और अलगाव के दौरान अपरिहार्य चिंता से निपटने में मदद के लिए माइंडफुलनेस का अभ्यास करें
    • बीमारी और अपनी मौजूदा स्थिति से ध्यान हटाने के लिए कुछ पढ़ें, मूवी देखें या किसी और सकारात्मक गतिविधि में खुद को व्यस्त रखें। (यह बच्चों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है)
    • और दोस्तों और परिवार के साथ ऑनलाइन या फोन पर जुड़े रहें।

    अपने कोविड लक्षणों की निगरानी करना महत्वपूर्ण है। रॉयल ऑस्ट्रेलियन कॉलेज ऑफ जनरल प्रैक्टिशनर्स के पास इस संबंध में सहायता के लिए एक उपयोगी लक्षण डायरी है। या यह तय करने के लिए कि आपको चिकित्सा सहायता की आवश्यकता है, हैल्थ डायरेक्ट लक्षण चेकर का उपयोग करें।

    - Advertisement -

    यदि आप अकेले रहते हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई नियमित रूप से आपसे संपर्क करके आप का हालचाल मालूम करता रहे।

    इस दौरान कुछ चीजों से बचना भी जरूरी है

    चिंता और अनिश्चितता के समय के दौरान, जैसे कि कोविड की बीमारी के साथ घर पर अलग-थलग करना, यह समझ में आता है कि लोग मनोवैज्ञानिक परेशानी पर काबू पाने के लिए ड्रग्स और शराब, अस्वास्थ्यकर भोजन, जुआ या अन्य व्यसनों की ओर रुख कर सकते हैं।

    ये रणनीतियाँ अस्थायी रूप से तनाव को कम कर सकती हैं। लेकिन वे लंबी अवधि में अधिक मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं।

    मानसिक बीमारियों वाले लोगों के लिए यह समय और भी कठिन रहा है

    महामारी ने मानसिक बीमारी के साथ जीना और भी मुश्किल कर दिया है।

    - Advertisement -

    पिछले कुछ साल कई लोगों के लिए चुनौतीपूर्ण और थकाऊ रहे हैं। मानसिक बीमारियों और अन्य पुरानी बीमारियों से जूझ रहे लोगों को इस दौरान बदले हालात में अपने देखभाल के तरीके को बदलने के साथ ही चिकित्सा के कुछ रूपों को ऑनलाइन भी अपनाना पड़ा।

    मानसिक बीमारी से उबरने और उसके प्रबंधन में अक्सर व्यायाम, सकारात्मक सामाजिक जुड़ाव और चिकित्सा जैसी गतिविधियाँ शामिल होती हैं – ये सभी कोविड प्रतिबंधों, वित्तीय बाधाओं और कर्मचारियों की कमी के कारण सीमित हो सकती हैं।

    अस्पतालों और डाक्टरों सहित कई जरूरी सेवाएं, बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के लिए संघर्ष कर रही हैं।

    उन लोगों के लिए अलगाव विशेष रूप से कठिन हो सकता है जिनके पास सुरक्षित घर नहीं है।

    - Advertisement -

    घरेलू हिंसा का सामना करने वाले लोगों को देखभाल तक पहुंचने में अधिक कठिनाई होती है क्योंकि वे अपने घरों में स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ बातचीत करने में सुरक्षित नहीं होते हैं।

    घरेलू हिंसा के साथ जीने वाले बच्चों को नुकसान का खतरा बढ़ जाता है। स्कूल या चाइल्डकैअर सुविधाएं बंद होने पर उनके पास जाने के लिए कोई सुरक्षित स्थान नहीं बचता है, इसलिए परिवार, दोस्त और किड्स हेल्पलाइन जैसी सेवाएं बच्चों की सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

    – लुईस स्टोन, ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी

    Subscribe to our Newsletter

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

    कोई जवाब दें

    कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
    कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

    पोस्ट साझा करें:

    एक नजर इन पर भी...

    राम और कृष्ण की तरह भगवान के अवतार हैं प्रधानमंत्री मोदी : कमल पटेल

    भोपाल। मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री और भाजपा नेता कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस द्वारा किए गए अत्याचार, भ्रष्टाचार और देश की संस्कृति...

    मूक बधिर युवती से बलात्कार, अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज

    जयपुर। राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में एक मूक बधिर युवती के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया...

    मनावर तहसील के भोल्यापुरा गांव के भिलाला समाज के लोगों ने श्री आई माता...

    मनावर। ब्रह्मलीन श्री1088 गजानन महाराज बालीपुर धाम एवं श्री आई माता जी की कृपा से मनावर तहसील के भोल्यापुरा गांव में अस्सी घर के...
    श्री आईजी राजस्थानी फिल्म का वडेर प्रांगण में प्रदर्शन

    श्री आईजी राजस्थानी फिल्म का वडेर प्रांगण में प्रदर्शन

    बेंगलूरु । केंगेरी में स्थित श्री आईमाता वडेर प्रांगण में शनिवार रात श्री आईजी नामक राजस्थानी फिल्म का प्रदर्शन किया गया।बड़ी संख्या में दर्शकों...

    शिक्षा से व्यक्ति का जीवन सहज और सुगम होता है : जोशी

    जयपुर। राजस्थान के जलदाय मंत्री डॉ. महेश जोशी ने कहा है कि शिक्षा से व्यक्ति का जीवन सहज और सुगम होता है, ऐसे में...
    श्री आईजी शिक्षण संस्थान, रानी द्वारा संचालित स्कूल में हुआ 77 वें स्वतंत्रता दिवस समारोह

    श्री आईजी शिक्षण संस्थान, रानी द्वारा संचालित स्कूल में हुआ 77 वें स्वतंत्रता दिवस...

    रानी। 77 वें स्वतंत्रता दिवस समारोह पर श्री आईजी शिक्षण संस्थान, रानी द्वारा संचालित एसएमबी इंग्लिश मीडियम स्कूल प्रांगण में कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के...
    आयुर्वेद के इन उपायों से किसी भी उम्र में तेज होगा आपका दिमाग

    आयुर्वेद के इन उपायों से किसी भी उम्र में तेज होगा आपका दिमाग

    वर्तमान समय में लाइफस्टाइल (lifestyle), रहन-सहन और भोजन के साथ ही सोचने का तरीका भी बदल चुका है। चाहे नौकरी पेशा लोग हो या...
    Bigg Boss OTT 2 से बाहर आते ही Avinash ने Elvish के बारे में क्या कहा

    Bigg Boss OTT 2 से बाहर आते ही Avinash ने Elvish के बारे में...

    Bigg Boss OTT का दूसरा सीजन बहुत ही जल्द समाप्त होने वाला है पर आप सभी को जल्दी विजेता का पता भी होने वाला...

    नेरकुन्ड्रम में कोरोना वैक्सीनेशन शिविर लगा

    चेन्नई। सीरवी समाज ट्रस्ट नेरकुन्ड्रम द्वारा व ग्रेटर चेन्नई कॉर्पेरेशन के सहयोग से रविवार को वैक्सीनेशन शिविर लगाया गया। संस्था के सचिव रमेश मुलेवा...

    भारत-कंबोडिया द्विपक्षीय व्यापार को और बढ़ाने की जरूरतः ओम बिरला

    नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भारत और कंबोडिया के बीच व्यापारिक सहयोग के नए क्षेत्रों को तलाशने की जरूरत को रेखांकित करते...

    इस तरह की और खबरें
    इस तरह की और खबरें

    कोविड टीकाकरण में 168.47 करोड़ टीके लगे

    नयी दिल्ली। पिछले 24 घंटे में देश भर में...

    एक साल शिक्षा के नाम अभियान के लिए अपील

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में, सीरवी समाज भवन मय छात्रावास...

    ओमिक्रोन के लक्षण क्या हैं?

    लगभग दो वर्षों से, जनता के लाखों सदस्य जोए...

    तमिलनाडु में आज से रात्रि कर्फ्यू, रविवार को लॉकडाउन

    चेन्नई। तमिलनाडु में कोरोना मामलों में वृद्धि को देखते...

    कहां और कैसे आप कोविड संक्रमण की पकड़ में आ सकते हैं

    महामारी को अस्तित्व में आए दो साल हो चुके...

    पंजाब में मोदी की सुरक्षा में गंभीर चूक

    नई दिल्ली/चंडीगढ़। देश के नेतृत्व की सुरक्षा व्यवस्था में...

    तनाव के बावजूद कैसे बने रहें जवान और ऊर्जावान

    थोड़ा तनाव आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए...

    21 अप्रैल से फिर शुरू होगी मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना

    भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा...

    हर हफ्ते पौधों पर आधारित चार खाद्य पदार्थ खाएं, सेहत अच्छी रहेगी

    पोषण और आहार विज्ञान में एक पुरस्कार विजेता प्रोफेसर...